स्वेटर से ज्यादा रूहानी स्नेह की ऊष्मा-दिव्य नगरी के बच्चों को मिले स्वेटर

प्रकृति के इस मौसम की ठंड से बचने के लिए हम ऊनी वस्त्र पहन लेते हैं लेकिन दिव्य नगरी स्लम के बच्चे जैसे तैसे अपने आप को इस ठंड से बचाते हुए अपना जीवनयापन कर रहे थे. 
 
लुधियाना से बी.के. राज दीदी जी ने इन दिव्य नगरी स्लम के बच्चों के लिए 200 अच्छे सुन्दर स्वेटर्स भेजे. 
 
नये वर्ष 2016 की सौगात के रूप में कल 2-जनवरी-2016 को शाम बच्चों की प्रतिदिन की क्लास के बाद अहमदाबाद के डिप्टी कमिश्नर ऑफ़ पुलिस भ्राता बिपीनभाई आहिर के हस्तों से इन नन्हें-मुन्ने मासूम बच्चों को जब ये नये सुंदर स्वेटर मिले तो उनकी ख़ुशी का ठिकाना नहीं रहा. स्वेटर की ऊष्मा के साथ बाबा के घर की रूहानी स्नेह की ऊष्मा से वे भरपूर होकर ख़ुशी में नाचने लगे.
 
DCP बिपीनभाई ने बच्चों को कहा कि काश मुझे भी आपकी उम्र में ये नैतिक और आध्यात्मिक  ज्ञान मिल गया होता तो मैं और भी आगे निकल जाता. ब्रह्माकुमारीज़ के इस स्लम सेवा के प्रयासों की भूरी-भूरी प्रशंसा करते हुए उन्होंने वादा किया कि आप जब भी मुझे बुलाएंगे मैं आ जाउंगा.