Divya Nagari Slum Seva Project at United Nations

 

It gives us immense pleasure to share with you all that our “Divya Nagari Slum Transformation Project” has been presented at one of the side event; “Yoga’s impact on Eradicating poverty, Sustainable living & Social Inclusion” at 55thSession of the Commission for Social Development (CSocD55) at United Nations (UN), New York, USA on 3rd February 2017 by BK Ishita ben, Chief Executive, Divya Nagari & Centre Co-ordinator, Brahma Kumaris, Navrangpura, Ahmedabad.

All the dignitaries and participants present in the conference were given Divya Nagari Annual Report. We believe the experience of Divya Nagari project shared at such global platform would inspire many social developers and help in eradicating poverty.

Please find below the attached flyer, photographs and video speech of the same.

डिजिटल एजुकेशन – ​दिव्य नगरी के स्लम के बच्चों एवं उनके अशिक्षित माता-पिता को एक अनोखा उपहार

divyanagari3

ब्रह्माकुमारीज अहमदाबाद नवरंगपुरा द्वारा पिछले डेढ़ वर्ष से भगत की चाली (Slum) को दिव्य नगरी में परिवर्तन करने का प्रोजेक्ट शुरू किया है जो सफलतापूर्वक चल रहा है.

​​

दिव्य नगरी के द्वितीय शैक्षणिक वर्ष में प्रवेश एवं नवरंगपुरा सेंटर के 27वें वार्षिकोत्सव के निमित्त रविवार 31-7-2016 शाम को एक कार्यक्रम आयोजित किया गया जिसमें आदरणीय बी.के.चन्द्रिका बहन जी, नवरंगपुरा एरिया के 3 कार्पोरेटर्स, मधुबन से पधारे दिव्य नगरी स्लम सेवा प्रोजेक्ट के मुख्य प्रोमोटर बी.के. सीए. ललितभाई, समाजसेवी, अन्य गणमान्य नागरिक, कच्ची बस्ती के 200 से अधिक बच्चे एवं उनके माता-पिता ने भाग लिया.

बच्चों ने बाबा की याद के गीत गाकर, ज्ञान के गीतों पर नृत्य करके सबका मन मोह लिया. वार्षिकोत्सव के निमित्त केक काटी गई. बच्चों एवं उनके माता-पिता ने अपने अनुभवों में बताया कि ब्रह्माकुमारीज की इस दिव्य नगरी सेवा से हमारे बच्चों में एवं हमारे में बहुत सकारात्मक परिवर्तन आया है. हमारी जिन्दगी बदल रही है.

आये हुए महेमानों ने अपनी शुभकामनाएं देते हुए ब्रह्माकुमारीज को इस विशेष सेवा के लिए बधाइयां दी.

इस प्रोजेक्ट की चीफ एग्जीक्यूटिव बी.के. ईशिता बहन ने सभी को बताया कि इस वर्ष बच्चों को डिजिटल एजुकेशन दी जाएगी. उन्हें पुस्तकों को जगह टेबलेट पर एनीमेशन फिल्म द्वारा स्कूल का कोर्स पूरा कराया जाएगा. उनके अशिक्षित माता-पिता को भी TCS कम्पनी द्वारा विकसित सॉफ्टवेर से शिक्षित किया जाएगा. साथ में इन सभी को राजयोग का कोर्स एवं अभ्यास भी कराया जा रहा है.

10 बेरोजगार युवाओं को वडोदरा में L & T कम्पनी में 6 सप्ताह की नि:शुल्क इलेक्ट्रीशियन की ट्रेनिंग के लिए भी भेजा रहा है.

दिव्य नगरी स्लम सेवा -अहमदाबाद ​नवरंगपुरा- प्रथम वार्षिक सेवा

“यहाँ मैं प्रेरणा देने नहीं, प्रेरणा लेने आया हूँ – शिक्षा मंत्री भूपेन्द्रसिंह जी चुडासमा”

​​अहमदाबाद 17-12-2015: “बहुत सुख-सुविधाएं देने से पुस्तकीय ज्ञान जरूर मिल जाता है परन्तु अच्छे संस्कार नहीं मिलते. अच्छे संस्कार के लिए तो यहाँ ब्रह्माकुमारीज़ में इन चाली के बच्चों को जो प्रतिज्ञाएं कराई जा रही है उसकी एक-एक बात जीवन में लाने का जो प्रयास ये दीदियाँ करा रही है उसी से बनेंगे. मैं यहाँ प्रेरणा देने नहीं, प्रेरणा लेने आया हूँ. ईश्वरीय प्रेम के बिना नि:स्वार्थ रूप से सेवा करना संभव नहीं है. स्लम को श्रेष्ठ बनाने की सेवाएं जो यह ब्रह्माकुमारी संस्था कर रही है वह उदाहरणमूर्त है. मैं जहां भी जाउंगा यहाँ का उदहारण जरूर दूँगा. आपके प्रयास बधाई के पात्र है.”

ब्रह्माकुमारीज द्वारा पिछले एक वर्ष से अहमदाबाद

​​नवरंगपुरा में स्थित ‘भगत की चाली’ को ‘दिव्य नगरी’ बनाने के सेवा प्रोजेक्ट की प्रथम वर्षगाँठ के अवसर पर गुजरात के शिक्षा मंत्री भूपेन्द्रसिंह चुडासमा ने ये उद्गार व्यक्त किये. मंत्री जी ने प्रथम वार्षिक सेवा रिपोर्ट बुक का विमोचन भी किया.

दिव्य नगरी स्लम सेवा प्रोजेक्ट की कार्यकारी निदेशिका (Execute Director) बी.के.ईशिता ने इस प्रोजेक्ट क्या लक्ष्य एवं उद्देश्य, प्रोजेक्ट के प्रथम चरण में करीब 200 बच्चों के जीवन परिवर्तन की रोमांचक यात्रा का अनुभव सुनाते हुए कहा कि गरीबनिवाज़ परमात्मा पिता से मिला हुआ प्यार हम इन बच्चों और उनके माता-पिता को दे रहे हैं और यह ईश्वरीय प्रेम और राजयोग का अभ्यास ही इस परिवर्तन का आधार है.

कार्यक्रम में डिप्टी म्युनिसिपल कमिश्नर (AMC) दिलीप भाई गोर, अहमदाबाद म्युनिसिपल स्कूल बोर्ड के चेयरमैन जगदीश भावसार, गुजरात ज़ोन इंचार्ज सरला दीदी, महादेवनगर सबज़ोन इंचार्ज बी.के.चंद्रिकाबहन, बी.के. कैलाश दीदी आदि महानुभावों ने उपस्थित रह सर्व को समाज सेवा के लिए प्रोत्साहित किया.

11